PREDICTION OF CORONA VIRUS YEARS BEFORE (in Hindi)

आइए आपको उन दो किताबों के बारे में बताते हैं, जिनमें आज चीन के वुहान प्रांत से फैलकर पूरी दुनिया में पहुँचे कोरोनावायरस के बारे में बताया गया था।

पहली किताब 1981 में पब्लिश हुई थी, किताब का नाम था “The Eyes of Darkness”, इसमें लेखक ने लिखा है सन 2020 में वुहान-400 नाम का एक वायरस वुहान से फैलना शुरू होगा, जो कि असल में laboratory में डिज़ाइंड एक Biological(जैविक) हथियार होगा, जिसे चीन के वैज्ञानिक ने बनाया होगा और ये एक ऐसा virus होगा जो सिर्फ़ मनुष्य पर हमला करेगा, किसी और जीव पर इसका कोई असर नहीं होगा।

हालाँकि इस किताब में ये लिखा है कि इस वाइरस का Fatal रेट 100% होगा यानि जिसके शरीर में ये प्रवेश कर गया उसका बचना नामुमकिन होगा, बस यही एक बात यहाँ अलग है बाक़ी सारी बातें लगभग वही हैं, और वो जगह भी जहाँ से ये शुरू हुआ।

दूसरी किताब लेखिका सिलविया ब्राउन की “End of Days” जो 2008 में आई थी, उसमें इस वायरस, इसके फैलने के समय और इसकी प्रकृति का एकदम स्पष्ट और 100% मैच खाता विवरण है, जैसा कि किताब में लिखा गया है, ये Lungs को अफ़ेक्ट करने वाला निमोनिया पैदा करने वाला एक वाइरस 2020 में पूरी दुनिया में अचानक आएगा, तहलका मचाएगा और अचानक से चला जाएगा। जाने के दस साल बाद ये फ़िर से आएगा लेकिन उसके बाद दुबारा नहीं आएगा। पुस्तक का वह अंश-

2020 के आसपास पूरी दुनिया में निमोनिया जैसी बाीमारी फैलेगी, जो फैफड़ों और ब्रोंकियल नलियों को निशाना बनाएगी और सभी जाने माने इलाजों का प्रतिरोध करेगी।

from- THE END OF DAYS by Sylvia Browne

क्या यह अंश इस नए कोरोना वायरस या कोविद-19 बीमारी जैसा नहीं लग रहा। और बीमारी का प्रकार, बताया गया साल और प्रतिरोध वाले हिस्से की कोरोना वायरस से समानता गजब की है। पुस्तक में यह भी बताया गया है कि यह बीमारी जल्द ही गायब भी हो जाएगी, जितनी तेजी से विश्व में यह बीमारी आयी, उतनी ही तेजी से चली भी जाएगी। 10 साल बाद, फिर से हमला करेगी और फिर पूरी तरह से गायब हो जाएगी। पुस्तक की लेखिका सिल्विया ब्राउन का सन् 2013 में देहांत हो चुका है, वे नियमित रूप से रेडियो व टेलीविजन पर आती थीं। वे यह दावा भी करती थीं कि भविष्यवाणी के साथ-साथ, वे आत्माओं से भी बातें कर करती हैं, लेकिन गुमशुदा बच्चों के माता-पिता को गलत जानकारी देने के कारण उनकी काफी आलोचना की गई।

अब ये fiction है, महज़ इत्तेफ़ाक है, सटीक पूर्वानुमान है या फ़िर कोई चमत्कार है ये तो नहीं पता, लेकिन उम्मीद करते हैं कि लेखिका सिलविया ब्राउन की बात सच हो, ये जिस तरह अचानक से आया उसी तरह अचानक ग़ायब हो जाए…

हालाँकि इसके Biological Weapon यानि जैविक हथियार होने की बात इस आधार पर सच लगती है क्यूँकि ये वाइरस सिर्फ़ और सिर्फ़ Human Body में ही जीवित रह पा रहा है अन्य किसी जीव में इसके होने की बात नहीं सामने आई है।

इसलिए अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें।

3 comments

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s